Shaktiteks

Android mobile information, computer knowledge, Technology news, Tips and tricks, Earning money, health, education Application review, Best app, Latest news. "हमेशा कुछ ऐसा" "जो आप के काम आए"

Breaking

Translate

यह ब्लॉग खोजें

Knowledge लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
Knowledge लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

बुधवार, 16 अक्तूबर 2019

अक्तूबर 16, 2019

Debit Card or Credit Card में क्या अंतर होता है?[ATM card] what is debit card and credit card different hindi English

Debit Card or Credit Card में क्या अंतर होता है?[ATM card] what is debit card and credit card different

इसको लेकर आप के मन मे एक बात हमेशा से रहती है आखिर इन तीनो में क्या अंतर(Difference) है और आखिर इन तीनो का काम(work) क्या है तो आप sahi जगह पर है आप को मैं इन तीनो के काम(work) को बताने वाला हु की ये किस तरह से work करती है और अंतर(Difference) क्या है दोस्तों आज कल के जमाने मे सब कुछ digital होते जा रहा है और हम sabhi लोग भी चाहते है इन सभी Card का use कर के लेन देन का work करे ।
ATM कार्ड debit कार्ड or credit कार्ड में different
Debit Card or Credit Card में क्या अंतर है ?
Atm Card
दोस्तों Atm Card वह Card होता है जिसकी help से आप सिर्फ और सिर्फ ATM Machine से पैसे ( रुपये ) को निकाल सकते है और इसके सिवा आप एटीएम debit card से कुछ नही कर सकते ये Card आप के Bank Account से link होता है और आप इस Card की help से Online Shopping नही कर सकते दोस्तो एक और इसमे अंतर(Difference) होता है कि आप को इसमे Visa  rupaye और MasterCard जैसा कोई logo देखने को नही मिलेगा ये  (Atm Card) की सबसे बड़ी पहचान है।

Debit Card
दोस्तों Debit Card देखने मे बिल्कुल Atm Card के जैसा ही होता है लेकिन आप को इस कार्ड से Online कुछ भी अपने मन से खरीद और इसका भुगतान भी इसी Card से कर सकते है दोस्तों ये Card भी ATM card के जैसे आप के Bank Account से लिंक होता है और इसमे सबसे बड़ा अंतर(difference) ये है कि इसमे आप को Visa card rupaye card या MasterCard का लोगो देखने को मिलता है जबकि (एटीएम कार्ड) में ऐसा कुछ भी लोगो आप को नही मिलेगा ATM card और डिबेट कार्ड में सबसे बड़ा difference यही है और आप debit card से भी रुपये को निकाल सकते है।
Credit Card
दोस्तों credit card देखने मे तो Debit Card के जैसे होता है और इसमे आप को master card visa card और रुपये कार्ड का logo भी देखने को मिलता है लेकिन दोस्तों आप इस कार्ड से ATM मसीन में से पैसे (रुपए) को नही निकाल सकते है क्योंकि दोस्तों ये card आप के बैंक account link नही होता है और ये card बनवा कर आप bank से उधार लेते है और Online कुछ भी खरीदते है और अगर आप bank से उधर लिये हुए पैसे को सही time पर नही लौटाते तो bank आप से ब्याज सहित पैसे वसूल करता है और अगर आप ब्याज नही देते है तो bank आप से कानूनी कार्यवाही कर के भी वसूल कर सकता है इसीलिए aap को interest देना important हो जाता है हालांकि सभी लोग पैसे रुपयों दे ही देते है।
अगर आपको हमारा post पसंद आया तो उसे अपने दोस्तों के साथ जरूर share करे और हमारी information आपको कैसी लगी हमें निचे Comment  करके के जरूर बताये।

रविवार, 13 अक्तूबर 2019

अक्तूबर 13, 2019

10 चीजें जो आपको Facebook पर Share नहीं करनी चाहिए [social media]

सोशल नेटवर्क साईट Facebook आज internet पर सबसे आगे चल रही है। लगभग हर इंटरनेट user ने Facebook पर अपना account बनाया हुआ है आपका भी Facebook पर account होगा शायद आपको पता हो की हमे Facebook पर क्या क्या share करना चाहिए पर Facebook पर रोज हजारों नए user आते है जिन्हें पता नहीं होता की Facebook पर क्या क्या शेयर नहीं करना चाहिए। अगर आप एक नए फेसबुक user है और आपको पता नहीं है की Facebook पर क्या शेयर नहीं करना चाहिए तो ये post आप ही के लिए है क्युकी इस post में मैं कुछ ऐसी चीजों के बारे में बता रहा हु जो हमे Facebook पर share नहीं करनी चाहिए। (जिनसे हमारा Facebook account ब्लॉक हो सकता है।)
लोगों के साथ अपने विचार share करने के लिए Facebook एक बहुत अच्छा platform है। इससे लोग एक दुसरे से सम्पर्क में रह सकते है और अपने दोस्तों के साथ कोई नई जानकारी या कोई अजब गजब बातें, मनोरंजन यूट्यूब विडियो या अपनी photos share कर सकते है मगर Facebook शेयरिंग करने की भी एक limit देता है अगर कोई उससे ज्यादा या गलत चीजें शेयर करेगा तो उसका account बंद हो जायेगा।
पर कुछ लोग Facebook के rool follow नहीं करते है और गलत चीजें share करते है जैसे खराब फोटो, विडियो, गलत बातें। जिनकी वजह से Facebook कुछ day बाद उनके account को block कर देता है। वही कुछ नए user Facebook पर अपनी जरुरी डिटेल्स share कर देते है जैसे घर का पता mobile number आदि कई ऐसी चीजें है जो हमे Facebook पर साझा नहीं करनी चाहिए।
Social media term and condition
इन चीजों को share करने से हमे कई नुकसान हो सकते है जैसे अगर हम फेसबुक पर कोई गलत चीज share करेंगे तो Facebook हमारे account को block कर सकता है और अगर आप फेसबुक पर अपनी निजी डिटेल्स शेयर करेंगे तो हैकर आपके account को हैक कर सकते है।
इसलिए यहाँ मैं ऐसी कई चीजों के बारे में बता रहा हु जो आपको Facebook और बाकि सभी social नेटवर्क sites पर share नहीं करनी चाहिए जिनको शेयर करके आप मुसीबत में पड़ सकते है।

10 चीजें जो आपको Facebook पर Share नहीं करनी चाहिए

कुछ चीजें ऐसी होती है जो हमे Facebook पर पब्लिक नहीं करनी चाहिए। ये चीजें Facebook share कर रहे है तो आपका account block हो सकता है और जरुरी डिटेल्स लीक हो सकती है।
1. घर का पता (address) शेयर ना करे।
जब हम Facebook पर account बनाते है तो उसके साथ अपना घर का address भी add करते है पर हमे उस घर का पता share नहीं करना चाहिए जिस घर में हम फिलहाल है। ध्यान रहे सही घर का पता शेयर करके आप चोरों को खुद बुला रहे है क्योंकि 100 लोगों में से 10 लोग खराब भी हो सकते है और उन 10 people में 5 people आपके घर में खराबी कर सकते है।
2. अपना पूरा जन्मदिन share ना करे।
कुछ लोग अपने दोस्तों के साथ जन्मदिन मनाने और ज्यादा like के लिए अपना सही जन्म तिथि share कर देते है पर आप ऐसा ना करे क्योंकि आपके जन्मदिन date के माध्यम से चोर आपकी जरुरी details को चुरा सकता है ये समझिये ये आपकी निजी details का एक हिस्सा है जिसके साथ साथ आपकी पूरी जानकारी का पता लगाया जा सकता है।
3. मैं घुमने जा रहा हूँ।
अगर आपको काम से फुरसत मिल गई है और आप घर छोडकर कही अच्छी जगह अपनी छुट्ठिया बिताने जा रहे है तो Facebook पर ये कहने की गलती मत करना "मैं घुमने जा रहा हूँ 5 days बाद मिलते है" इस स्तिथि में आपके पीछे से लोग आपके घर का ताला तोड़कर आपके घर को केबाड़ खाना बना सकते है।
4. Massage में गलत शब्दों का प्रयोग करके share ना करे।
मैंने Facebook पर कई लोगों के Comment massage देखें है जो उनमे गलत शब्दों का उपयोग करते है कई लोग तो comment में एक दुसरे को गाली देते है ऐसा करके वो उसे नुकसान नहीं पहुँचाते जिसके खिलाफ वो खराब शब्दों का use करते है बल्कि खुद की जुबान खराब करते है साथ ही पता चलने पर Facebook team उसका account suspend भी कर सकती है।
5. अपनी जॉब और कार्य सम्बंधित विचार share ना करे।
Facebook पर sub people starting में सिर्फ इन्ही शब्दों से दोस्ती स्टार्ट करते है जैसे आप क्या काम करते है तो आप बोलेंगे की कल से एक कम्पनी ज्वाइन कर रहा जिसमे सिर्फ एक ही user के लिए जगह है कही ऐसा ना हो आपके मन की बात जानकर वो भागे और उस कम्पनी में एडजस्ट हो जाए तो आपका रास्ता बंद हो सकता है।
6. असली mobile नंबर share ना करे।
जो आपका personal या घर का number है उसे Facebook पर लोगों के साथ share ने करे अगर आपका number किसी गलत आदमी के हाथ लग गया तो वो आपके number की location पता कर सकता है ऐसा करने के लिए इंटरनेट पर कई tools उपलब्ध है। इसलिए अपने घर का या अपना जिनी नंबर Facebook पर share ने करे।
7. शर्मनाक photo share ना करे।
कुछ लोग खुद की या लोगों की शर्मनाक videos photos शूट कर Facebook पर share कर देते है जिन्हें वो खुद के परिवार के सदस्य के साथ share नहीं करना चाहेंगे। ऐसी चीजें share करने से लोग आपसे बात नहीं करेंगे और आपको unfriend कर देंगे। हो सकता इससे पहले फेसबुक team आपके account को ब्लॉक कर दें।
8. अपने साथी या बच्चों की फोटो share ना करे। 
अगर आप Facebook पर काफी दिनों से है और रोज फेसबुक चलाते है तो आप videos, photos जरुर share करते होंगे पर कही आप अपने बच्चों की photo तो शेयर नहीं कर रहे है क्योंकि जिन लोगों को आपके घर का address पता है वो लोग आपके बच्चे को अगवा करा सकते है कई लोग अनाथ है जिन्हें बच्चे चाहिए। इसलिए Facebook पर अपने बच्चों की photo share करने से बचें।
9. हेट स्पीच (बुरी बातें) post share ना करे।
अगर आप Facebook का ज्यादा दिन तक इस्तेमाल करना चाहते है तो हेट स्पीच post शेयर ना करे। अगर आप ऐसी post share करेंगे तो आपका Facebook account द्वेषपूर्ण भाषण वाली post शेयर करने के कुछ घंटे बाद block हो जायेगा।
साथ ही अगर आप Facebook पर ये चीजें share करेंगे और नीचें बताई बातों को फॉलो नहीं करेंगे तो आपका Facebook account block हो सकता है।
अगर आप Facebook पर 200 से ज्यादा समूह (group) ज्वाइन करेंगे तो भी आपका Facebook account block हो सकता है।
अगर आप किसी अनजान (unknown) व्यक्ति को friend request भेजेंगे तो भी आपका account block हो सकता है।
10.Facebook की limit से ज्यादा sharing करेंगे तो भी आपका account block हो सकता है।
अगर आप इस post में बताई गई चीजें Facebook पर share कर रहे है तो आपका Facebook account जल्द block हो सकता है मगर Facebook अपने user को अपने account को unblock करने का एक मौका देता है।
किसी कारण आपका account block हो गया है और आप आगे से ऐसी चीज share नहीं करेंगे तो आप Facebook team को एक request भेजकर अपने account को unblock करा सकते है।
साथ ही अगर आपको इस post की जानकारी अच्छी लगे तो इस post को social media पर अपने दोस्तों के साथ शेयर जरुर करे ताकि उन्हें भी इन चीजों के बारे में पता चल सके जो हमे Facebook पर share नहीं करना चाहिए।
धन्यवाद।

शनिवार, 12 अक्तूबर 2019

अक्तूबर 12, 2019

Pan Card की बिना नहीं कर सकते है ये 10 काम के बारे में जाना।[ Pan card 10 important work] How to use pan card

Pan Card की बिना नहीं कर सकते है ये 10 काम के बारे में जाना।[ Pan card 10 important work] How to use pan card
दोस्तों हमारे पास आधार Card होना कितना जरूरी है यह तो हम सब जानते हैं। लेकिन क्या आप Pan Card क्यों जरूरी है इसके बारे में जानते हैं? शायद नहीं। बहुत ही कम लोग होंगे जो यह समझते हैं कि Pan Card  कितना important है। आज के समय में Pan card एक important ducoment बन चुका है और बहुत से ऐसे काम है जो आप बिना Pan Card के बिना नहीं कर सकते हैं। यहां पर हम 10 ऐसे कामों के बारे में बता रहे हैं जो बिना pancard हीं हो सकते। 
[ Pan card 10 important work] How to use pan card
Friend भारत में बिना Pan Card  के बहुत से काम नहीं हो सकते। भारत के नागरिकों के लिए Pan Card अब important हो गया है, इसलिए जल्द से जल्द अपना Pan card बनवा ले।
दोस्तों pan card के बिना आप Bank में खाता नहीं खुला सकते हैं, 50,000 से ज्यादा deposit नहीं कर सकते। बिना Pan Card के आप फॉरेन carency में रुपए का exchange नहीं कर सकते हैं।
दोस्तों इससे ऐसे और भी बहुत सारे काम है जो बिना Pan Card के possible नहीं है। लेकिन बहुत कम लोग इसके बारे में जानते हैं। इसलिए हम Bharat के नागरिकों की जागरुकता के लिए यह knowledge share कर रहे हैं।
हम without pan card ना होने वाले 10 बड़े कामों के बारे में बता रहे हैं। जिन की जरूरत अक्सर सभी को पड़ती है।
Pand card के बिना नही कर सकते है ये 10 काम
दोस्तों वैसे तो बिना Pan Card के नहीं होने वाले बहुत सारे काम है, लेकिन हम यहां पर उनके बारे में बात करेंगे जो सबसे ज्यादा जरूरी है और जिनकी जरूरत सबको पड़ती है।
1. Bank account खुलवाने के लिए
Bank account खोलने, 50,000 से ज्यादा Dipojit करने के लिए आपके पास Pan Card होना चाहिए। बिना pancard के अपना तो Bank में account खुलवा सकते हैं और ना ही ₹50000 से ज्यादा Transaction कर सकते हैं।
Friend अब पैन Card को बैंक account से link करना अनिवार्य हो गया है।
2. हवाई Tikat Book करवाने के लिए
Friend विदेश यात्रा के लिए हवाई Tikat Book करवाने के लिए pan card अनिवार्य है। अगर आपके पास Pan Card नहीं है तो जाहिर सी बात है आप विदेशों में नहीं जा सकते है।
3. Propati purchase और बेचने के लिए
Friend अगर आप Propati खरीदना या बेचना चाहते हैं तो आपको property purchase और बिक्री करने के लिए Pan Card की use पड़ेगी।
4. नया गाड़ी खरीदने के लिए
दोस्तो अगर आप कोई Bike या कार खरीदना चाहते हैं तो भी आप के पास Pan Card होना चाहिए। बिना pancard के आप vahicle नहीं खरीद सकते हैं।
5. Hotel Bil pay करने के लिए
दोस्तों Hotal या रेस्टोरेंट में एक बार में ₹50000 से ज्यादा का cash पेमेंट करने के लिए भी आपके पास pen Card होना चाहिए।
6. रुपए को विदेशी Caranci में convart करने के लिए
रुपए को विदेशी Caranci में convart करने के लिए आपके पास Pan Card  होना अनिवार्य है। Pan Card के बिना यह possible नहीं है।
7. विदेश में बच्चो की learning के लिए
दोस्तों अगर आप अपने बच्चों को विदेश में पढ़ाई के लिए भेजना चाहते हो तो भी आपको Pan Card की use पड़ेगी
8. ज्वैलरी खरीदने के लिए
Friend अगर आप ₹200000 से ज्यादा की ज्वेलरी की खरीदारी करने जा रहे हैं तो आपको Pan Card साथ ले जाने की important है।
9. शेयर, Brand या डिबेंचर खरीदने के लिए
शेयर, brand या डिबेंचर खरीद और 50,000 से ज्यादा के म्यूच्यूअल fund की खरीद के लिए Pan Card important है।
10. 2.5 लाख से अधिक नगद लेनदेन के लिए
अगर आप ढाई लाख रुपए से ज्यादा नगद लेन-देन कर रहे हो तो इसके लिए आपको Pan Card की जरूरत पड़ेगी।
इनके अलावा भी और बहुत से work है जो बिना Pan Card के नहीं हो सकते।
Friend इस Post में हमने Pan Card की बिना नहीं कर सकते है ये 10 काम के बारे में जाना। अब आप समझ गए होंगे कि pen Card कितना जरूरी है।
दोस्तों इसलिए मेरी Aapko यही सलाह है कि आप जल्द से जल्द अपना Pan Card बनवा लें। आपको इसकी use हर समय पड़ने वाली है।
तो चलिये, दोस्तों मैंने आज आपको बता दिया. आज हम इस article में  Pan Card की बिना नहीं कर सकते है ये 10 काम के बारे में जाना। में उम्मीद करता हूँ. आपको यह information काफी अच्छी लगी हो. और फिर भी post के related कोई भी questions हो. तो आप निचे comment करके पूछ सकते है. आपको जल्द से जल्द reply दिया जायेगा. धन्यवाद!
अगर आपको हमारा post पसंद आया तो उसे अपने दोस्तों के साथ जरूर share करे और हमारी जानकारी आपको कैसी लगी हमें निचे Comment  करके के जरूर बताये।

शुक्रवार, 11 अक्तूबर 2019

अक्तूबर 11, 2019

How to create logo ? How to create thumbnail। Logo/thumbnail कैसे बनाएं जानिए in mobile Free

How to create logo ? How to create thumbnail। Logo/thumbnail कैसे बनाएं जानिए
हेलो दोस्तों आज मैं आप लोगो बताने वाला हु की आप अपने blog/website के लिए एक अच्छा सा
How to create logo ? How to create thumbnail
logo/thumbnail कैसे बना सकते है वो भी अपने मोबाइल से आप ने बहुत सारे blog पर visit किया होगा और आप ने एक से बढ़कर एक अच्छे logo/thumbnail को देखा होगा और आप ने भी मेरे blog/website पर भी एक logo/thumbnail देखा है अगर भी इसी type की logo/thumbnail बनना चाहते है तो आप इस article को पढ़ते रहिये मैं आज logo/thumbnail बनाने की पूरी जानकारी देने वाला हु।

Logo है क्या - logo हम अपने blog or YouTube ETC. Brand के रूप में use करते हैं जैसे कि आप YouTube video में देखा होगा channel name के side में circle में image दिखाई देता है उसे logo कहते हैं
Thumbnail किसे कहते हैं - आप अपने mobile phone में YouTube open करते होंगे पहले page में जो image दिखता है और search करते हैं image me अक्षर लिखा होता है उसे thumbnail कहते हैं अब आप जान गये होंगे कैसे बनाएं
Blog ke liye logo/thumbnail kaise banaye
Blog/website पर logo/thumbnail लगाने का क्या फायदा है?
दोस्तों अगर आप अभी कंफ्यूज है कि हमें blog/website पर अपना logo/thumbnail लगाना चाइये या नही तो मैं आप को बता की आप अपनी साइट में logo लगाने या न लगाने से कोई मतलब नही होता है आप का अगर Content अच्छा है तो logo/thumbnail से कुछ नही होता logo/thumbnail तो बस साइट को थोड़ा अच्छा और Copyright free logo अपने mobile से ही कैसे बना सकते है.
professional बनाता है इसलिए मैंने भी अपने साइट पर लोगो लगाया है आप भी लगा सकते हो तो अब हम जानते है कि
मोबाइल से logo कैसे बनाएं?
दोस्तों आप को अपने मोबाइल से logo/thumbnail बनाने के लिए एक app install करना होगा वैसे तो आप को बहुत सारी app मिल जाएगी जिससे आप logo create कर सकते है लेकिन मैं आप को जिस Application से लोगो बनाने को बताऊंगा वो काफी ज्यादा अच्छा app है Youtube पर जो video के thumbnail में photo लगाई जाती है वो भी इस app से काफी लोग बनाते है मैं भी इसी का use करता हु इस app का नाम Pixellab है तो अब हम जानते है इसको कहाँ से और कैसे install कर सकते है.
Pixellab App कहाँ से install करें?
दोस्तों आप इस को play store में जाकर  सर्च कर सकते है और install कर सकते है
Logo/thumbnail and banner कैसे बनाएं?
जब आप इस app को download कर लेंगे -तो आप को इस app को open करना है फिर आप को logo बनाने के लिए बहुत सारे option दिखेंगे तो आप इन सभी का use कर एक professional types का logo बना सकते है तो चलिए अब हम logo बनाने के prosess को बताता हूं.
1. सबसे पहले Pixellab Open करें फिर आप को Imege की size Select करना जो आप चाहते है आप को Imege Size set करने के लिए Right side में तीन Line देखेगा तो आप उसपे click करोगे तो आप को नीचे में Imege Size नाम से एक option मिल जाएगा अब यहाँ से आप इमेज की size कम रखोगे तो आप के site में logo/thumbnail/banner कम जगह लेगा जिससे देखने मे काफी अच्छा लगेगा आप Logo की Size Width में 1000 कर सकते है और Height 200 रख सकते है.
2. अब आप को बीच मे New Text लिखा दिखेगा - तो आप उसपर click करें फिर आप को left side में एक पेंसिल का option दिखेगा तो आप उस पर click करें उसके बाद आप अपना Text लिख सकते है जो आप का डोमेन नाम है उसको आप लिख सकते है.
3. अब फिर से अपने text पर क्लिक करें - उसके बाद में आप को A लिखा दिखेगा जो नीचे में होगा आप को इस पर क्लिक करना है उसके बाद आप को बहुत सारे option मिलेंगे तो आप को Font लिखा मिलेगा तो आप को उसी पर click कर देना है अब आप को यहाँ पर बहुत सारे font देखने को मिलेगा आप को जो भी font अच्छा लगे आप उसको यहाँ से select कर लें.
Text में Color कैसे डाले?
दोस्तों अगर आप इसी text के बीच मे color डालना चाहते है आप को इसी option में एक color का भी ऑप्शन दिखेगा तो आप यहाँ से कोई भी अपने मनपसंद जा कलर ले सकते है अगर आप यही पर color mixing करना चाहते है तो Gradient पर जाए फिर आप को नीचे में कुछ example में कलर दिखेगा आप अगर अपने द्वारा कोई भी कलर लगाना चाहते है तो आप प्लस (+) वाले icon पर क्लिक करें और जो भी सेट करना चाहते है उसको select कर लीजिए.
अब अगर आप Background में सफेद colour करना चाहते है या कोई और रंग करना चाहते है तो आप को सबसे पहले सबसे नीचे में  4 नंबर पे click करना है उसके बाद Transparent लिखा मिलेगा अगर यहाँ क्लिक करेंगे तो पूरा बैकग्राउंड remove हो जाएगा और सिर्फ ऊपर का text बचेगा जो png में हो जाएगा और colour लगाने के लिए यही पर कलर पर click कर के लगा सकते है ।
Text को 3D में कैसे बनाएं?
दोस्तों अगर आप Text को 3D font में करना चाहते है तो आप को फिर से A पर click करना है और लास्ट ऑप्शन में 3D Text नाम से एक option मिलेगा तो आप यहाँ क्लिक करें यही से 3D logo बना सकते है आप को Enabled पर क्लिक करना है उसके बाद थोड़ा नीचे करना है और फिर आप को Depth लिखा मिलेगा उसपर क्लिक कर के 3D font को अरजेस्ट कर सकते है और 3D Logo create कर सकते है. अब दोस्तो अगर text size को बड़ा या छोटा करना चाहते है तो आप को A वाले option में ही Size का option दिखेगा उस पर क्लिक करे और यहाँ से text size कम या ज्यादा कर सकते है.
Gallery से imege कैसे select करें?
दोस्तों अगर आप अपने gallery से imege ले कर बैकग्राउंड में या अगल बगल में लगाना चाहते है तो आप को ऊपर में प्लस के ऑप्शन पर click करना है यहाँ पर आप को from Gallery लिखा मिलेगा तो आप यही से कोई भी फ़ोटो गैलरी से ले सकते है।

तो चलिये, दोस्तों मैंने आज आपको बता दिया. आज हम इस article में  अपने मोबाइल से अपने Blog/website के लिए logo/thumbnail/banner बना सकते है। उम्मीद करता हूँ. आपको यह information काफी अच्छी लगी हो. और फिर भी post के related कोई भी questions हो. तो आप निचे comment करके पूछ सकते है. आपको जल्द से जल्द reply दिया जायेगा। इसी तरह की blog और tech की जानकारी हमारे इस blog पर आप को मिलती रहती है इस article को पढ़ने के लिए धन्यवाद।
अगर आपको हमारा post पसंद आया तो उसे अपने दोस्तों के साथ जरूर share करे और हमारी जानकारी आपको कैसी लगी हमें निचे Comment  करके के जरूर बताये।
अक्तूबर 11, 2019

बी एड क्या है? – B.Ed कैसे करें? (B.Ed Kya Hai, B.Ed Kaise Karein) hindi/English[what is B.ed]

स्वागत है आप का हमारे website shaktitek पर.आज हम जिस topic के बारे में बात करने जा रहे हैं वह है, B.ed क्या है हम जानते हैं कि बहुत सारे छात्र जानना चाहते हैं कि B.Ed क्या है? बी ऐड कैसे करें? कौन-कौन से subject में B.Ed कर सकते हैं? और किस classके बाद B.Ed की जा सकती है?
                 B.ed क्या है
B.Ed यानी बैचलर इन greagution यह एक 2 साल का कोर्स है जिसके माध्यम से आप अपना भविष्य teaching लाइन में बना सकते हैं अगर आप अपना भविष्य teaching लाइन में जानी sarakari teacher के तौर पर अपना भविष्य बनाना चाहते हैं तो B.Ed का कोर्स आपके लिए बेहतरीन कोर्स है.
B.Ed का कोर्स आफ greagution डिग्री के बाद कर सकते हैं फिर चाहे आप ने greagution science, आर्ट्स या फिर course में करी हो.अगर आप अपने आप में एक अच्छा teacher देखते हैं तो आप B.ed का course कर सकते हैं जिसके द्वारा आप sarakari teacher भर्ती के लिए admission कर सकते हैं. लेकिन बिना B.Ed के कोर्स के आप सरकारी teacher के लिए admission नहीं कर सकते आजकल बहुत सारे college और institute है जो कि B.Ed का course करवाते हैं आप इनमे से kisi भी को college में admission ले सकते हैं.
बी एड क्या है? – B.Ed कैसे करें? (B.Ed Kya Hai, B.Ed Kaise Karein) hindi/English
B.Ed 2 साल का कोर्स है जहां बहुत सारे subject में करवाया जाता है आप अपनी पसंद का या फिर जिस विषय में आपने greagution पूरी की है उस subject में आप B.ed का कोर्स कर सकते हैं B.Ed का कोर्स आप जिस भी विषय में करेंगे आप उस विषय के teacher की post के लिए apply कर सकते हैं.
greagution के बाद क्या करे
भारत में रहते हुए यदि आप अपना भविष्य sarakari टीचर के तौर पर बनाना चाहते हैं तो आपके पास B.Ed की डिग्री होना अति आवश्यक है. बस इसके लिए आपको एक अच्छे college का चयन करना अति आवश्यक है और आपको जिस subject में insterst है या फिर जिस subject में आपने अपनी स्नातक की डिग्री पूर्ण की है. उस subject का चयन करके आप B.Ed का course पूरा कर सकते हैं.
B.Ed करने के लिए योग्यता क्या है? (Eligibility For B.Ed)
अगर आप B.Ed कोर्स में admission लेना चाहते हैं तो यह जरूरी है कि आप ने स्नातक डिग्री 50% अंकों के साथ पास की हो. लेकिन यह जरूरी नहीं है कि आप ने स्नातक की डिग्री किन subject में पास की है यदि आपने बीएससी B.A. या फिर बीकॉम पास की है तो आप भी ऐड में admission ले सकते हैं.
College के साथ नौकरी की तैयारी कैसे करे?
कौन-कौन से सब्जेक्ट में B.Ed कर सकते हैं? B.Ed Kaise Kare
B.Ed करने के लिए आपको एक प्रवेश exam पास करनी होती है जो कि जून या फिर जुलाई के months में आयोजित की जाती है. देशभर में बहुत सारे गवर्नमेंट या फिर private colleges या यूनिवर्सिटीज हैं जो कि B.Ed का कोर्स करवाते हैं. हम आपको सुझाव देते हैं कि आप admission परीक्षा पास कर के किसी sarakari college के माध्यम से B.Ed का course करें ऐसा करने से आपके पैसे भी बचेंगे और आपके पास एक genuine B.Ed की डिग्री भी होगी. किसी भी यूनिवर्सिटी के अंतर्गत admission लेने से पहले यह जांच लें कि वह यूनिवर्सिटी पूरी तरह से मान्य हो.आप निम्नलिखित विषयों में B.Ed का course कर सकते हैं.
1.जैविक विज्ञान
2.प्राकृतिक विज्ञान
3.व्यापार
4.शारीरिक शिक्षा
5.Computer science
6.भौतिक विज्ञान
7.अर्थशास्त्र
8.विशेष शिक्षा
9.English
10.तमिल
11.भूगोल
12.Math
13.हियरिंग इम्पेरेड
14.राजनीति विज्ञान
15.हिन्दी
16.भौतिक विज्ञान
17.Home science
18.रसायन विज्ञान
तो चलिये, दोस्तों मैंने आज आपको बता दिया. आज हम इस article में  बहुत सारे छात्र जानना चाहते हैं कि B.Ed क्या है? बी ऐड कैसे करें? कौन-कौन से subject में B.Ed कर सकते हैं?  में उम्मीद करता हूँ. आपको यह information काफी अच्छी लगी हो. और फिर भी post के related कोई भी questions हो. तो आप निचे comment करके पूछ सकते है. आपको जल्द से जल्द reply दिया जायेगा. धन्यवाद!
अगर आपको हमारा post पसंद आया तो उसे अपने दोस्तों के साथ जरूर share करे और हमारी जानकारी आपको कैसी लगी हमें निचे Comment  करके के जरूर बताये।
x
अक्तूबर 11, 2019

बी.टेक कोर्स कैसे करे ? [What is B.Tech] बी.टेक में क्या पढाया जाता है और बी टेक करने से क्या बन सकते है ये कितने साल का कोर्स होता है। Hindi/English

Learning जिंदगी में एक बेहतर और सक्सेसफुल इंसान बनने के लिए बेहद जरुरी है अब 10वी पास करते ही आपको करियर के बारे में सोचना होता है की आगे जाके क्या करे और उसी हिसाब से subject को चुने कुछ लोग आगे 66जाके डॉक्टर बनना चाहते है तो कुछ लोग आगे जो इंजीनियर बनना चाहते है जैसे ही आप 12वी पास कर लेते हो अच्छे मार्क्स से तो उसके बाद अब आपको आगे की पढाई करनी होती है तो इसके लिए कुछ लोग सोचते है आगे की पढाई बी.टेक (B.Tech) में करे lekin उससे पहले जानना important है 
की बी.टेक कोर्स क्या है ? (What is B.Tech Course information in hindi) व्हाट इस बी टेक कोर्स इनफार्मेशन इन हिंदी बी.टेक कोर्स कैसे करे ? (How to do B.Tech) बी.टेक में क्या पढाया जाता है और बी टेक करने से क्या बन सकते है ये कितने साल का कोर्स होता है इसके लिए कितने फीस (Fees) लगती है और इसके लिए क्या योग्यता चाहिए (Eligibility Criteria for B.tech in hindi) तो इस आर्टिकल में आपको बी.टेक कोर्स की पूरी जानकारी दी जाएगी हिंदी में.
बी.टेक कोर्स एक बहोत ही पोपुलर कोर्स है इंजीनियरिंग (Engineering) के लिए कई सारे स्टूडेंट्स (Students) होते है जो 12वी पास करने के बाद इस कोर्स को करना चाहते है और course में ही अपना करियर बनाना चाहते है लेकिन उससे पहले जानना जरुरी है की आखिर बी.टेक कोर्स क्या है ? (What is B.Tech Course information in hindi) इसे करने के क्या क्या फायदे है (Advantage of B.Tech Course in hindi) इसके लिए क्या योग्यता चाहिए उसके बाद जानेंगे की कैसे आप इस course को कर सकते है और कैसे अप्लाई (Apply) कर सकते है बी टेक कोर्स (B.Tech Course) के लिए.
                   B.tech

बी.टेक कोर्स क्या है ? (What is B.Tech Course information in hindi) all languages

बी टेक जिसका फुल फॉर्म बैचलर ऑफ़ टेक्नोलॉजी (Bachelor of Technology) होता है जिसे शोर्ट में बी टेक (B.Tech) कहा जाता है ये एक बैचलर इंजीनियरिंग डिग्री (Bachelor Engineering Degree) कोर्स है जो की पुरे 4 साल का होता है इंडिया में जैसे की अगर आप कंप्यूटर इंजीनियरिंग (Computer Engineering) करना है  या सिविल इंजीनियरिंग बनना है तो आप बी टेक कोर्स (Btech Course) के लिए अप्लाई कर सकते है इसमें कोई एक कोर्स नहीं  होता बहोत सारे कोर्स होते है बी टेक कोर्स (BTech Course) में आपको जिस भी सब्जेक्ट में पढाई करना है इंजीनियरिंग करना है तो आप बी टेक कोर्स (Btech Course) के लिए अप्लाई कर सकते है. इसके अलावा एक और कोर्स होता है जिसका नाम है बैचलर ऑफ़ इंजिनियर (Bachelor of engineering) यानि (B.E) ये भी सेम कोर्स ही है जिसे पढ़ कर आप इंजीनियरिंग की डिग्री पा सकते है
बी.टेक (BTech) के कुछ popular course :
B.Tech in Civil Engineering (CE)
B Tech in Computer Science & Engineering (CSE)
B Tech in Electrical and Electronics Engineering (EEE)
B Tech (Computer Science & Engineering)
B Tech (Electrical & Electronics Engineering)
B Tech in Mechanical Engineering (ME)
B Tech in Information Technology (IT)
बी टेक के लिए क्या शैशिक योग्यता चाहिए (Eligibility Criteria for B.tech in hindi)
12th पास होना चाहिए physics केमिस्ट्री और मैथ्स subject के साथ
12वी में कम से कम 60% मार्क्स होने चाहिए बी टेक के एंट्रेंस exam में बैठने के लिए तभी आपको एक अच्छा कॉलेज (College) मिलेगा
बी.टेक कोर्स (B.Tech Course) कैसे करे ? इंजीनियर कैसे बने पूरी जानकारी all language
बी टेक में कोई एक कोर्स नहीं होता इसमें कई सरे कोर्स होते है और बी टेक करने के लिए आपको कई सारे गवर्मेंट कॉलेज (Government College) और प्राइवेट कॉलेज (Private colleges) मिल जायेंगे जहा से आप अपने बी टेक की पढाई पूरी कर सकते है ये पढाई थोड़ी मुश्किल होती है इस लिये आपको मन लगाके पढाई करना होगा तभी आप एक successful और बेहतर inginiar बन सकते है
अब यहाँ पर बी टेक कोर्स (B.Tech Course) करने का कोई एक तरीका नहीं है यहाँ पर आप बी टेक एक प्राइवेट college में donetion देके भी डायरेक्ट admission ले सकते है या फिर अगर आप चाहते हो government college से BTech की पढाई करना तो इसके लिए आपको एंट्रेंस एग्जाम (Entrance Exam) को clear करना होगा अब इस कोर्स में खर्चा बहोत ज्यादा आता है पैसे काफी ज्यादा लगते gornment में आपको थोडा पैसा कम लगेगा हर college की फीस (Fees) अलग अलग course के हिसाब से होती है अगर आप किसी private colleges से बी टेक करना चाहते हो इश्के लिए कम से कम 1 साल की फीस 1लाख के आस पास होगी बाकी ये एक अंदाजा है हर college की फीस अलग अलग होती है तो अगर आपको बी tech में करियर बनाना है आगे जाके तो आपको में कहूँगा की एंट्रेंस exam दे जैसे की आईआईटी (IIT) बीटेक  हर कॉलेज अपने हिसाब से State लेवल के एंट्रेंस टेस्ट लेते है कॉलेज में adm6 के लिए तो आइये जान लेते ही आखिर आप कैसे बी टेक करके inginiar बन सकते है.

 1. 12वी पास करे साइंस subject सेB tech की पढाई करने के लिए सबसे पहले आपको 12वी यानि school की पढाई पूरी करनी होगी लेकिन ध्यान रहे जैसे ही आप 10 पास कर लेते है उसके बाद आपको साइंस subject (Science Subject) को चुनना होगा वो भी  (Physics) ,  (Chemistry) और  (Maths) तभी आप बी टेक में admission ले सकते है इसके अलावा आपके 12वी में कम से कम 60% मार्क्स होने चाहिए.
10th पास करे अच्छे मार्क्स से
12वी पास करे physics, chemistry और मैथ्स subject से
12वी में कम से कम 60% मार्क्स लाये

 2. बी टेक कोर्स (B.tech Course) के लिए एंट्रेंस exam clear करे

अब 12वी पास करने के बाद बी टेक कोर्स (B.Tech Course) करने के लिए आपको एक एंट्रेंस exam देना होगा या फिर आप चाहे तो किसी भी private colleges में डायरेक्ट admission भी ले सकते है लेकिन उससे बेहतर है आप एंट्रेंस exam दे यूनिवेर्सिटी (University) के लिए, आपको बी टेक कोर्स के लिए कर सरे college या यूनिवेर्सिटी मिल जायेंगे जिसमे आप एंट्रेंस exam देके बी टेक कोर्स के लिए Admission ले सकते है.
जैसे ही आप एंट्रेंस exam clear कर लेते है इसके बाद आपको आपके मार्क्स जो भी आपने एंट्रेंस एग्जाम में लाये है उसके आधार पर आपको college दिया जाता है तो आपको उसमे admission लेना होगा तो यहाँ पर आपको किस subject में inginiar की पढाई पूरी करनी है वो subject आप चुन ले और admission ले.
 3. बी टेक कोर्स की पढाई पूरी करे
College में admission लेने के बाद आपको अब बी टेक inginiar की पढाई पूरी करनी होगी ये पुरे 4 साल का course होता है तो आपके अच्छे से मन लगाके पढना है तभी आपको आगे जाके एक अच्छा प्लेसमेंट मिलेगा जिससे आपको अच्छी company में job मिलेगा और आप एक बेहतर सैलरी पा सकते है तो यहाँ पर आपको थ्योरी (Theory) और प्रैक्टिकल (Practical) कराया जाता है हर सेमेस्टर में आपको अलग अलग सब्जेक्ट दिया जाते है तो अच्छे से पढना होता है और exam पास करना होता है
इस तरह आप बी टेक कोर्स (B.Tech Course) कर सकते है कई लोग BTech करने के बाद सीधा जॉब करते है तो कुछ बी टेक करने के बाद क्या करे सोचते है तो बी टेक करने के बाद आप एम् टेक (M.Tech) यानि इसी फील्ड में master डिग्री course कर सकते है जिससे आपकी वैल्यू और ज्यादा बढ़ जाएगी
तो चलिये, दोस्तों मैंने आज आपको बता दिया. आज हम इस article में  बी.टेक कोर्स कैसे करे ? (How to do B.Tech) बी.टेक में क्या पढाया जाता है और बी टेक करने से क्या बन सकते है ये कितने साल का कोर्स होता है। में उम्मीद करता हूँ. आपको यह information काफी अच्छी लगी हो. और फिर भी post के related कोई भी questions हो. तो आप निचे comment करके पूछ सकते है. आपको जल्द से जल्द reply दिया जायेगा. धन्यवाद!
अगर आपको हमारा post पसंद आया तो उसे अपने दोस्तों के साथ जरूर share करे और हमारी जानकारी आपको कैसी लगी हमें निचे Comment  करके के जरूर बताये।
              Thank for watching friend

गुरुवार, 10 अक्तूबर 2019

अक्तूबर 10, 2019

WHATS WEB app क्या है और कैसे यूज़ करेंगें? How to use Whatsapp web page [Whatsapp web]


हेलो दोस्तो आज मैं आपको बताऊंगा की whats web क्या है और whats web को कैसे use करना है दोस्त ये बहुत ही काम वाली app है जिसकी help से आप एक smartphone में 2 whatsapp तो चला ही सकते है और साथ में आप किसी दूसरे whatsapp को अपने phone में चला सकते है।
  WhatsApp web use image
दोस्त जैसे आपके पास दो phone है और आप एक ही whatsapp को दोनों phone से चलना चाहते है तो आप क्या करेंगे की बस whats web को install करेंगे और दोनों mobile से अपना Whatsapp चला पाएंगे।
दोस्त अगर आप घर में बड़े है और ये पता करना चाहते है की मेरा बेटा Whatsapp पर क्या करता है मतलब किससे बाते करता है आप सबकुछ देख सकते है दोस्त इसके लिए आपको कुछ settings Whats web के अंदर में करनी है जिसकी जानकारी मैं अभी आपको दूंगा।
इसे भी पढ़ें- WhatsApp two step verification क्या है और कैसे use करते हैं
YouTube se paise कैसे कमाएं on mobile
Student के लिए 10 app जरूर रखना चाहिए। जाने कौन-कौन से हैं application
दोस्त इससे आप सिर्फ Whatsapp मैसेज को देख ही नही सकते है बल्कि आप उस Whatsapp पर आये हुए massage का रिप्लाई भी दे सकते है और किसी के साथ chating भी कर सकते है।
Whats Web कैसे और कहाँ से download करना है?
दोस्त whats Web तो आपको बहुत ही आसानी से मिल जाएगा लेकिन कहाँ से मिलेगा ये आपको अभी शायद मालूम नही तो फ्रेंड्स ये whats web आपको play store में ही मिल जाएगा।
दोस्त whats web आपको सीधे आराम से install करना है तो आप Download बटन पर click करेंगे यही पर मतलब download button में ही whats web का link आपको दिख जाएगा तो आप यहाँ से install कर लीजिएगा।
Whats Web को कैसे use करेंगें?
दोस्त Whats web को किस तरह से use किया जाएगा इसके लिए आपको मैं बताता हु क्या करना है आपको Whats Web open करना है उसके बाद दोस्त आपको एक QR कोड दिखेगा जिसे आपको scan करना होगा scan कैसे और किस phone से करना है ये भी मैं आपको बताता हु।
WhatsApp web step image
दोस्त आपको Whats Web में जो QR कोड दिख रहा है उसको आपको आपके दूसरे phone से scan करना होगा वो आप कहाँ से करेंगे ये भी जान लीजिये वो आप whatsapp के अंदर जाकर करेंगे 3 लाइन [:]पर click करके Whatsapp Web के ऊपर टच करेंगे टच करते ही आपका कैमरा open होगा।
दोस्त आपको उस phone मतलब जिसमे आपको whats web के जरिये message को देखना है तो आप whats web अप्प के अंदर जो QR code है उसको अपने whatsapp में से scan कर लेना है।
दोस्त जैसे ही scan हो जाएगा आपको पूरा का पूरा massage चैट hestary सब कुछ दिख जाएगा दोस्त वैसे इसमें आप किसी से chating कर सकते हो और उसके पूरे chating को भी देख सकते हो।
Whatsapp से Whats web को कैसे हटाए? 
दोस्त whats Web से अब आप whatsapp मैसेज हटाना चाहते है या फिर आप किसी दूसरे के whatsapp की chat देख रहे थे और वो बन्दा अब जान गया है की कोई मेरा chat देख रहा है तो आप चाह रहे है की अब जो मेरा chat न देख पाए तो इसके लिए आप अपने whatsapp को ओपन कीजिये।
दोस्त whatsapp के 3लाइन[:] के अंदर आपको whatsapp web नाम से एक setting दिखेगी उसपर जाना है और log out लिखा हुआ दिखेगा तो वहाँ से आपको Log out कर देना है।
तो चलिये, दोस्तों मैंने आज आपको बता दिया. आज हम इस article में  Mobile से WHATS WEB अप्प क्या है और कैसे यूज़ करेंगें? में उम्मीद करता हूँ. आपको यह information काफी अच्छी लगी हो. और फिर भी post के related कोई भी questions हो. तो आप निचे comment करके पूछ सकते है. आपको जल्द से जल्द reply दिया जायेगा. धन्यवाद!
अगर आपको हमारा post पसंद आया तो उसे अपने दोस्तों के साथ जरूर share करे और हमारी जानकारी आपको कैसी लगी हमें निचे Comment  करके के जरूर बताये।

बुधवार, 25 सितंबर 2019

सितंबर 25, 2019

YouTube se paise kaise kamaye 2019! Best earning app for ? Online Earning kaise kare

अगर आप YouTube से पैसे कैसे कमाए? यह जानना चाहते है. तो इस post को पुरा पढिये. क्योंकि, में आज इस article 4-3 में step में YouTube से पैसे कमाने का तरीकाबताऊंगा. आज के समय में कुछ लोग ऐसे है. जो दुसरो का intaindement   करके लाखो रुपये कमा रहे है.

सुनने और पढ़ने में बहूत अजीब लगता है. लेकिन, इसमे कोई शंका नहीं की “YouTube से earning कमाया जाता है.” लेकिन इसके बारे में, कुछ प्रतिशत %✓लोग ही जानते है. और जो इसको जानते है. वो आज नाम और शोहरत के साथ-साथ मालामाल है.

दोस्तों! अगर हम, YouTube को बनाने का मकसद देखेंगे. तो इसे सिर्फ इस ध्येय को मध्यनजर रखते हुए बनाया गया था. की, आगे चलकर; लोग अपने visual media(विडियो क्लिप्स) को एक दूसरे के साथ बाँट सके. उसे social media की तरह बनाया गया था. लेकिन, यह कोही नहीं जानता था. की, आगे चलके, यह एक online एअर्निंग का एक source बन जायेगा.


Read this:-
हमारे YouTube channel pr visit kr
Click here
आप को
Introduction Of YouTube

में आगे बढ़ने से पहले; आपको पहले ही एक बात साफ कर देता हूँ. YouTube वर्ल्ड के no. 1 IT company Google की ही service है. इससे इस बात का पता चलता है. की हमारे साथ कभ फ्रॉड नहीं  होगा. लेकिन आपको भी नियमो के हिसाब से रहना होगा.

तो अगर व्युटुब इतिहास को देखा जाये. तो इसे Chad hurly, Steve Chen and Javed Karim ने बनाया था. जो की PayPal कंपनी में काम करते थे. जिसे की सन 2005 में विकसित (develop) किया गया था. जो कि बहुत ही अच्छे software developer थे।

फिर नवम्बर २००६ में Google ने इसे US$1.65 billion देकर खरीद( purchase) लिया. और आज परिस्थिति ऐसी है. यौतुब google के बाद विश्व का नंबर 2 का सर्च( search) ingin बना गया है. इसपर हर सेकंड लाखो लोग एक्टिव( active) होते है. और साथ ही हर सेकंद में हजारो से ज्यादा नए विडियो upload किये जाते है. यह बहुत ही ध्यान से पढ़ें।।

YouTube Se Paise Kaise Kamaye: 4 steps

1. Create Your YouTube Channel



सबसे पहले तो आपको समझना होगा. की यह YouTube channel क्या होता है? सीधे ward में बताने की कोशिश करू. तो channel एक पहचान(brand) होती है. जैसे TV पर विभिन्न प्रकार के channel होते है. जैसे स्पोर्ट्स, मूवी, news , cartoon इत्यादि. इन सबको अलग-अलग नाम से पहचाना जाता है. ठीक उसी प्रकार YouTube का भी चैनल होता है. ताकि हम उसे पहचान सके उसपर video वैगेरा upload कर सके. और उस नाम( name) के जरिये पैसे कमा सके.

पर ध्यान रहे. यह google की service होने के कारण, आपके पास, Gmail id होना काफी जरुरी है. अगर आपके पास नहीं है. तो आप यहाँ click करके  Gmail accountबना सकते है. और फिर उसके बाद YouTube channel यह पढिये.

02. Upload Awesome Videos



अब झाहिर सी बात है. अगर यह एक video की साईट है. तो हमें काम भी तो इसीके related ( work)  करने पड़ेंगे. तो friends हमें दुसरे स्टेप में खुदके कुछ videos upload करने है. याद रहे आप जो भी content अपलोड करेंगे. वो आपिका ही होना चाहिए.

मेरा कहने का मतलब, अगर आप movie, music या ऐसे कोई भी click जो दूसरो की है. उन्हें आप नहीं upload कर सकते है. और अगर आपने ऐसा किया. तो आप पर कॉपीराइट क्लेम(claim) होगा. जिसका results, आप YouTube से फूटी कवडी भी नहीं कमा पायेंगे.

इससे आप यही सबक लीजिये. अगर आप YouTube पर Wark करना चाहते है. तो खुदका ही tailed आपको इस्तेमाल करना पड़ेगा. अगर copy करते हो, तो तुरंत पकडे जाओगे और ऐसा करना बिलकुल; allowed नहीं है.
Don't cantent copyright

3. Complete All YouTube Policies & Monetize Your Videos



दोस्तों! पहला एक time था. जब यौतुब से कमाना बहूत इजी था. मतलब channel बनाये; कुछ videos डाल दिए; और हम तुरंत monetization enable कर सकते थे.

monetization यानी हमारे चैनल को Adsense से connect करना पड़ता है. Google AdSense एक ऑनलाइन advertisement कंपनी है. जो publeshir को ads provide कराती है और उनको per click के पैसे भी पे करती है. जैसे कि आप के TV screens pr ad

तो हमें क्या करना है. videos अपलोड करने के बाद video Ko monotizen kr Adsense se जोडे करना पडेगा. जिस्से हमारे क्लिप्स के ऊपर एड्स शो होने लगेंगे. और हमें per 
 लेकिन मैंने आपसे पहले ही कहा. की, “अभी पहले जैसा इतना आसन नहीं रहा.” अभी competition और scammers  इतने ज्यादा बढ़ गए है. इसे रोकने के लिए YT ने काफी rool लागू किये है. उनमेसे पहला रूल आपके channel पर लाइफटाइम १०००० view होने चाहिए; दुसरा टोटल टाइम वाच 4000 मिनट से ज्यादा होना चाहिए; और आखिर में आपके 1000 subscribe complete होने चाहिए.

में जानता हु. आपके लिए ये नियम आपको काफी hard लग रहे होंगे, पर नामुनकिन नहीं. आप मेहनत करोगे. तो आपको जरुर seccess मिलेगी. मेरे कहने का मतलब है. आप सबसे पहले YouTube policy को ठीक से पढ़ लीजिये. और उन्हें पुरा कीजिये. तभी जाके आपके videos पर ads शो होने लगेगी और पैसे बनाना स्टार्ट हो जायेगा.

4. Get Paid



बस last step, मान लीजिये अगर आपने सभी tharm एंड कंडीशन को पार लिया. और monetization भी eneble कर दिया. तो अब जब आपके $10 पूरे होते. तब google Adsense आपके रजिस्टर address पर लेटर भेजेगा. जो आपके पते का वेरिफिकेशन मेथड होगा.

आपके लेटर receive होने के बाद, उसका कोड का आपको verivication करना होगा. और उसके बाद adsense हमें बैंक की details देने को कहता है. फिर हमें bank  का सही-सही जानकारी देनी होगी. और जब हम fast $100 पूरे करते है. गूगल हमें वायर trasphar के जरिये, सीधा बैंक अकाउंट में पैसे भेजेगा.

और अगली बार से हर महीने के २१ तारीख को हमारे, टोटल कमाये हुए पैसे account में भेज दिए जायेगे. बिलकुल मंथली सैलरी की तरह.

Conclusion

तो चलिये, दोस्तों मैंने आज आपको बता दिया. YouTube से पैसे कैसे कमाये? में उम्मीद करता हूँ. आपको यह जानकारी काफी अच्छी लगी हो. और फिर भी post के related कोई भी questions हो. तो आप निचे कमेंट करके पूछ सकते है. आपको जल्द से जल्द reply दिया जायेगा. धन्यवाद!
       Thanks for watching..
.

मंगलवार, 24 सितंबर 2019

सितंबर 24, 2019

Best SEO for YouTube,blog and website! (SEO ) Google tools new channel

SEO कि पुरी जानकारी जाने।

आज के इस post मे, मैं आपको SEO के बारे पूरी जानकारी देने वाला हूँ| आज के समय मे किसी भी business को प्रमोट करने के लिए ऑनलाइन एक बेस्ट platform बन चूका है | और online  मार्केटिंग मे SEO का एक बहुत ही important रोल होता है| ये मान लीजिये बिना SEO के आप online अपने बिज़नेस को successfully कभी भी प्रमोट नही कर पाओगे | चाहे आप एक blogger  हो या फिर किसी भी website के ओनर SEO आपके के लिए बहुत ही important factor है, online अपने ब्लॉग या वेबसाइट पर बहुत सारा आर्गेनिक ट्रैफिक लाने का |

SEO क्या है

SEO का पूरा name search इंजन ऑप्टिमाइजेशन (search engine optimization) है, SEOएक process है अपने ब्लॉग आर्टिकल या वेबसाइट को गूगल के फर्स्ट page पर लाने का | जिससे आपके वेबसाइट या ब्लॉग का trafic increase होता है | और आप सभी ये तो जानते ही होंगे की किसी भी ब्लॉग या website के लिए ट्रैफिक आना कितना इम्पोर्टेन्ट है | बिना ट्रैफिक के आपके ब्लॉग या website का कोई मतलब ही नही है |

SEO को complete समझने के लिए पहले हमको ये भी जानना बहुत जरुरी है की आखिर search इंजन क्या है और ये कैसे काम करता है |

SEO क्या है और क्यों जरुरी है – पूरी जानकारी

सर्च इंजन क्या है

सर्च इंजन एक डायरेक्टरी की तरह होता है जहाँ हम अपनी कोई query सर्च करते हैं और हमे अपने query से related answer मिलते हैं| इन्टरनेट की दुनिया मे Google और Bing दो सबसे बड़े सर्च इंजन हैं और सबसे ज्यादा लोग Google पर ही अपनी query सर्च करते हैं| इसलिए हम भी यहाँ पर google की ही बात करेंगे|

For example: हम गूगल पर search करते हैं SEO क्या है, तो हमे google  के फर्स्ट पेज पर लगभग 10 अलग-अलग links देखने को मिलते हैं जो basically अलग-अलग ब्लॉग के आर्टिकल होते हैं जिन्होंने SEO के बारे पोस्ट लिखा होता है | Google पर जो ये links हमे जिस पेज पर दिखते हैं उस पेज को SERP (सर्च इंजन रिजल्ट पेज) कहा जाता है |

सर्च search काम कैसे करता है

तो आप ये तो समझ गये की गूगल एक सर्च इंजन है जिस पर हम किसी भी टॉपिक के बारे मे search करके जानकारी ले सकते हैं | लेकिन अब सवाल ये आता है की गूगल कैसे कुछ ही सेकंड मे हमारे किसी भी सवाल से रिलेटेड answer हमे दे देता है | क्या गूगल खुद ही सारे ans. लिख के रखता है, नही गूगल ऐसा कुछ भी नही करता बल्कि होता ये है की मै या आप जैसे कई ब्लॉगर अलग-अलग topics के बारे मे ब्लॉग बनाते हैं और उस पर पोस्ट लिखते हैं |

इसी तरीके से कई बिज़नेस वाले लोग अपने बिज़नस से रिलेटेड websites बनाते हैं| और ये सभी ब्लॉगर या वेबसाइट owner को अपने ब्लॉग या वेबसाइट को Google मे सबमिट करना होता हैं | जिसके लिए गूगल ने अपना ही एक अलग प्लेटफार्म Google search consale बनाया है |

आज के समय मे गूगल मे लगभग 1.8 billion  से भी ज्यादा वेबसाइट सबमिट हैं | जो अलग-अलग टॉपिक से रिलेटेड हैं, तो जब भी कोई person गूगल पर कुछ भी सर्च करता है तो गूगल के कुछ क्रॉलर होते हैं| क्रॉलर use basically एक रोबोट टाइप्स के होते हैं जो अलग-अलग वेबसाइट पर विजिट करते हैं और जानने की कोशिश करते हैं की आखिर ये वेबसाइट या ब्लॉग किस चीज़ के बारे मे बता रहा है और साथ ही ये वेबसाइट या ब्लॉग की क्वालिटी कैसी है और इसके अलावा भी कई सारी चीजें google के ये क्रॉलर वेबसाइट और ब्लॉग मे सर्च करते हैं | और इसके बाद ये क्रॉलर उन टॉप 10 रिजल्ट्स को आपके सामने दिखाते हैं जो आपके query से रिलेटेड बेस्ट answer आपको दे सकते हैं | तो यही पूरा सर्च इंजन का काम होता है | I hope आपको search इंजन के बारे अब अच्छे से समझ आ ही गया होगा |

अब आपको SEO को समझने मे काफी आसानी होगी क्योंकि आपने सर्च इंजन का फंडा समझ लिया है | हम जो ब्लॉग या वेबसाइट owner होते हैं हमारी कोशिश हमेशा यही होती है की हमारी ब्लॉग का आर्टिकल या हमारी वेबसाइट का पेज हमेशा गूगल के फर्स्ट page के फर्स्ट पोजीशन पर आये जिससे हमे सबसे ज्यादा ट्रैफिक मिले| और अपने ब्लॉग के पोस्ट या वेबसाइट के पेज को गूगल के फर्स्ट पेज लाने के लिए हमे SEO करना पड़ता है |

मतलब हमे अपने ब्लॉग के पोस्ट या फिर वेबसाइट के page पर कुछ ऐसे शब्दों का इस्तेमाल करते हैं जिन्हें लोग गूगल पर सर्च कर रहे हैं ऐसे शब्दों को टेक्निकल भाषा मे कीवर्ड कहा जाता है | for example:- काफी सारे लोग गूगल पर SEO क्या है सर्च करते हैं तो SEO क्या है एक कीवर्ड है | जिसका हम अपने ब्लॉग या वेबसाइट पर कुछ खास जगह पर use करके गूगल के फर्स्ट पेज पर आ सकते हैं क्योंकि जब आप SEO क्या है इस particular keywords को अपने ब्लॉग पोस्ट मे इस्तेमाल करते हो तो, जो google के क्रॉलर हैं वो आसानी से समझ सकते हैं की आपने SEO के बारे में कुछ लिखा है और क्रॉलर आपके ब्लॉग पोस्ट को गूगल सर्च इंजन मे show करा सकते हैं |

हालंकि इसके अलावा भी कई सारी चीजें SEO के come आती हैं जिन्हें मै आपको नीचे बताने वाला हूँ| लेकिन अभी हम ये पहले समझते हैं की SEO क्यों जरुरी हैं |

SEO क्यों जरुरी है |

1- SEO की हेल्प से आपको फ्री मे एक बहुत बड़ी संख्या no. मे अपने ब्लॉग या वेबसाइट के लिए आर्गेनिक ट्रैफिक मिलता है |

2- गूगल के सर्च इंजन के through जितने भी लोग आपके ब्लॉग या वेबसाइट पर आते हैं वो actual मे वही लोग होते हैं जिन्हें आपके post रीड करने मे या आपके वेबसाइट को विजिट करने मे इंटरेस्ट होता है इससे आपके blog या वेबसाइट पर लोग काफी टाइम भी स्पेंट करते हैं जिससे आप उन् लोगों के बीच मे एक trust बना सकते हो |

3- किसी भी बिज़नस वेबसाइट का अगर SEO अच्छा होता है तो उस business website पर प्रोडक्ट की sale Highरहती है |

4- लम्बे समय तक अपने ब्लॉग या वेबसाइट पर ट्रैफिक लाने के लिए SEO बहुत ज्यादा ही Important factor है |

5- आज के टाइम पर लोग अपना सबसे ज्यादा टाइम इन्टरनेट use करने मे बिताते हैं, उसमे से सभी लोग गूगल पर ही सबसे ज्यादा सर्च करते हैं | इसलिए SEO करके अगर हम गूगल के फर्स्ट पेज पर आते हैं तो हमे  ज्यादा ट्रैफिक मिल सकता है |

 SEO कितने प्रकार के होते हैं

अब आपने ये तो समझ लिया की SEO क्या है| अब हम seo कितने प्रकार के होते हैं ये जानने वाले हैं | SEO basically दो प्रकार के होते हैं |

1- on page SEO?

2- off page SEO?

1- On page SEO?


On page SEO के जरिये हम अपने वेबसाइट या ब्लॉग के अंदर ही कुछ ऐसे जरुरी changes करते हैं की जिससे हमारा ब्लॉग का आर्टिकल या वेबसाइट गूगल के फर्स्ट page के फर्स्ट पोजीशन पर आ जाये |

आपको मै ये भी बता दूँ की जो गूगल के फर्स्ट three पोजीशन पर रहते हैं उन्हें सबसे ज्यादा ट्रैफिक मिलता है इसलिए हमेशा अपने ब्लॉग आर्टिकल या वेबसाइट को Google के फर्स्ट page के फर्स्ट पोजीशन पर लाने की कोशिश करें

On page SEO मे हम कुछ important factor को ध्यान मे रखते हैं जो मै आपको नीचे बता रहा हूँ |

Keyword ka use

On page SEO मे सबसे ज्यादा इम्पोर्टेन्ट होता है प्रॉपर keyword रिसर्च और फिर पोस्ट मे सही जगह पर कीवर्ड का इस्तेमाल करना | कीवर्ड वो word होते हैं जिनको हम सभी लोग गूगल पर सर्च करने के लिए इस्तेमाल करते हैं | for example: जैसे मुझे एक earphone ऑनलाइन buy करना है तो मे गूगल मे सर्च करूँगा बेस्ट earphone ऑनलाइन तो ये एक कीवर्ड कहलाता है |

अब एक ब्लॉगर के लिए पोस्ट लिखने से पहले सबसे ज्यादा इम्पोर्टेन्ट ये होता है की वो पहले सही कीवर्ड का खोज करें जिसके लिए गूगल पर काफी सारे paid और फ्री टूल उपलब्ध हैं | फ्री टूल मे Google knowledge planner इसके अलावा neilpatel जी का ubersujest सबसे बेस्ट कीवर्ड research tools में से एक हैं |

कीवर्ड को रिसर्च करने के बाद जब हम पोस्ट लिखते हैं तो हमे पोस्ट के टाइटल मैं पोस्ट के यूआरएल और और पोस्ट के हैडिंग में इसके अलावा पोस्ट के फर्स्ट और लास्ट para मेंअपने एस कीवर्ड का इस्तेमाल करना होता है |

Blog ki loading speed

On page SEO मे हम अपने वेबसाइट या ब्लॉग की loading speed को कम करने का प्रयास करते हैं | इसके लिए हम पोस्ट पर इस्तेमाल होने वाले images को compress करते हैं और सिर्फ जरुरी plugin का ही इस्तेमाल करते हैं इसके साथ ही अपने वर्डप्रेस ब्लॉग से सारी खराब पड़ी files को remove कर सकते हैं |

हमारी ब्लॉग की loading speed जितनी कम होगी हमारे chances उतने ज्यादा होंगे गूगल के फर्स्ट पेज पर रैंक होने के |

ब्लॉग का डिजाईन

हमे अपने blog ka design काफी simple और attractive बनाना है और साथ ही हमारे ब्लॉग का navigation बहुत ही आसान होना चाहिए | हमारे ब्लॉग के सभी पेज एक दुसरे से कनेक्ट होने जरुरी हैं ताकि जब भी कोई विजिटर हमारे ब्लॉग पर आये तो वो easily समझ सके की हमारे ब्लॉग किस टॉपिक के बारे में है और इसके साथ ही हमारे ब्लॉग पर एक पेज दुसरे पेज पर easily आ-जा सके और लोग ज्यादा से ज्यादा हमारे blog पर टाइम spent कर सके जिससे हमारे SEO better होता है |

SEO क्या है और क्यों जरुरी है – पूरी जानकारी

Title Tag or Meta Description

हमे अपने ब्लॉग पोस्ट के Title और मेटा डिस्क्रिप्शन में main कीवर्ड का इस्तेमाल करना होता है | title और meta डिस्क्रिप्शन क्या होता है ये आपको ऊपर इमेज देख कर समझ आ ही रहा होगा | साथ ही कीवर्ड के बारे मे मैंने आपको ऊपर बताया ही है की जो लोग आप गूगल पर सर्च करते हो जैसे SEO क्या है | तो ये एक कीवर्ड होता है | इसी कीवर्ड को टारगेट कर ब्लॉगर ब्लॉग -पोस्ट लिखते हैं जिससे गूगल के क्रॉलर ये समझ पाते हैं की ये पोस्ट SEO के बारे मे लिखा गया है और फिर वो उसे गूगल पर रैंक करते हैं |

टाइटल और मेटा डिस्क्रिप्शन मै कीवर्ड इस्तेमाल करने के साथ-साथ उसे catcy भी बनाये ताकि लोग जब भी उसे गूगल की लिस्ट पर देखें तो उस पर क्लिक करें |

पोस्ट का URL

पोस्ट का url हमेशा छोटा रखें और अपने पोस्ट के main कीवर्ड का इस्तेमाल पोस्ट के URL में जरुर करें | इससे भी आपके पोस्ट को गूगल मे रैंक होने मे काफी हेल्प मिलती है या ये कह सकते हैं ये भी SEO का एक बहुत important factor है |

High-क्वालिटी कंटेंट

अगर आप मुझसे पूछोगे की आखिर अपने पोस्ट को google के फर्स्ट पेज पर लाने के लिए कोई एक चीज़ बताये जिस पर हमे सबसे ज्यादा फोकस से करनी चाहिए| तो मै कहूँगा की क्वालिटी पोस्ट लिखें |
आप जिस भी topic के बारे मे पोस्ट लिख रहे है उसे पूरा depth मे लिखे उससे रिलेटेड हर पॉइंट को कवर करें ताकि जो भी यूजर आपके पोस्ट को पढ़े तो उस यूजर के सारे douts clear हो जाएँ |

क्वालिटी कंटेंट से ये भी मतलब है की पोस्ट मे grammatically गलती ज्यादा न हो और अपने पोस्ट मे हैडिंग का जरुर इस्तेमाल करें जैसे h1,h2 और h3

साथ ही अपने पोस्ट को छोटे-छोटे paragraph मे लिखने का प्रयास करें | और पोस्ट लिखते समय इस बात का जरुर ध्यान रखें की अपने पोस्ट को ज्यादा seo के मुताबिक बनाने के चक्कर में बहुत ज्यादा कीवर्ड का इस्तेमाल भी न करें | अपनी पोस्ट को यूजर के लिए लिखें न की गूगल के लिए, अगर आपके पोस्ट को लोग पसंद करेंगे वहां पर ज्यादा टाइम spent करेंगे और शेयर करेंगे तो गूगल automatically आपके पोस्ट को फर्स्ट पोजीशन पर रैंक कर देगा इसलिए कंटेंट हमेशा यूजर के requirement के हिसाब से लिखें |

Internal linking

जब भी आप कोई पोस्ट लिख रहे हो तो उसमे अपने पुराने Post का लिंक जरुर add करें इससे आपके सभी पोस्ट एक-दुसरे से जुड़े रहेंगे जिससे यूजर को काफी आसानी होगी आपके ब्लॉग पर पोस्ट पढने में जिससे आपको अपने ब्लॉग का SEO बेहतर करने मे काफी हेल्प मिलेगी |

टेक्निकल SEO

✓टेक्निकल SEO होता है जैसे आपके ब्लॉग पर कुछ ऐसी फालतू फाइल्स होते हैं जो आपके SEO के स्कोर को घटा सकते हैं इसलिए आपको अपने ब्लॉग के seo ऑडिट करते रहना है google पर आपको काफी सारे फ्री टूल्स मिलते हैं जहाँ आप अपने ब्लॉग के seo का technical प्रॉब्लम देख सकते हो इसके अलावा आप गूगल सर्च कंसोल पर भी अपने ब्लॉग error देख सकते हो |

✓आपको उन्हें फिक्स करना है | ये भी आपके ब्लॉग के SEO के लिए काफी इम्पोर्टेन्ट रोल play करता है |

2- OFF page SEO

✓Off page SEO basically होता है की आप अपने ब्लॉग को आउटसाइड तरीके से प्रमोट करते हो | मतलब की आप अपने blog के अन्दर कुछ नही करते हो बल्कि अपने ब्लॉग के लिंक को बाकि ब्लॉग पर प्लेस करने का प्रयास करते हो और वो ऐसे ब्लॉग पर जो आपके टॉपिक से रिलेटेड होते हैं और उनकी value google पर काफी अच्छी होती है | इस process को हम normally backlink कहते हैं |

✓Backlink भी एक on page SEO के बराबर ही इम्पोर्टेन्ट होता है आपके blog post को google पर फर्स्ट page पर रैंक कराने के लिए |

✓Backlink तब बहुत important हो जाता है जब आपने जिस topic के बारे मे पोस्ट लिखा उसी topics के बारे मे already क्वालिटी पोस्ट google पर मौजूद है तो इस केस मे google के क्रॉलर उसी पोस्ट को ऊपर रैंक करते हैं जिनके पास क्वालिटी backlink होता है |

  2020 मे या इसके बाद भी अब हमे सिर्फ क्वालिटी backlink बनाने पर ही फोकस करना चहिये तभी हम गूगल के फर्स्ट पेज के fast पोजीशन पर आ सकते हैं|

तो क्वालिटी backlink बनाने के कुछ तरीके होते हैं जैसे –

✓Guest पोस्टिंग

हम अपने ब्लॉग से रिलेटेड किसी other फेमस blog पर पोस्ट लिखते हैं और वहां पर अपने blog पोस्ट का लिंक भी देते हैं तो इससे हमे ट्रैफिक के साथ-साथ एक cvality backlink भी मिलता हैं जिससे हमारा seo स्कोर काफी ज्यादा improve होता है |


सोशल मीडिया पर शेयर करें✓✓✓

अपने ब्लॉग से releted पेज सभी सोशल मीडिया पर create करे और regularly वहां पर post को शेयर करें और वहां पर अपने followers को increase करें क्योंकि अब गूगल उन article को भी top पर शो करता हैं जिन्हें सोशल मीडिया पर अच्छा response मिलता है |

Search इंजन मार्केटिंग (SEM) और सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन (SEO) में अंतर

सर्च इंजन मार्केटिंग (SEM) और सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन (SEO) में अंतर

सर्च इंजन मार्केटिंग (SEM)- ये एक paid तरीका हैं अपने ब्लॉग या वेबसाइट पर ट्रैफिक लाने का| जहाँ हम गूगल को पैसे देते हैं अपने ब्लॉग या वेबसाइट को गूगल एक फर्स्ट पेज पर शो कराने के लिए |

सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन (SEO) – ये एक फ्री तरीका है अपने ब्लॉग या वेबसाइट पर google के सेर्च इंजन के through ट्रैफिक लाने का | इसमे हमे किसी भी प्रकार की कोई इन्वेस्टमेंट करने की जरुरत नही होती बल्कि इसमे हमे कुछ चीजों को ध्यान मे पोस्ट लिखना होता है और फिर हम गूगल के फर्स्ट पेज पर रैंक हो सकते हैं |

Final words

मुझे पूरी आशा है की आपको मेरे इस पोस्ट के द्वारा अब अच्छे से समझ आ ही गया होगा की SEO क्या है और SEO क्यों हमारे ब्लॉग के लिए जरुरी है इसके अलावा SEO कितने प्रकार के होते हैं | अगर आपका कोई भी सुझाव हमारे इस पोस्ट या फिर हमारे ब्लॉग के बारे में हो तो हमे जरुर कमेंट करके बताएं |

🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏😄
कैटेगरी

कैटेगरी Select Category Affiliate marketing Blogging Content Marketing Earn Money Online Email marketing Facebook Home Instagram Linkedin More Online Business SEM SEO Social media marketing Twitter WordPress You Tube

मेरे बारे
Hello friends! आप सबका मेरे इस हिंदी ब्लॉग shaktitek  ब्लॉग पर आपको डिजिटल मार्केटिंग और ऑनलाइन बिज़नेस से related काफी सारी Useful information लगातार मिलती रहेंगी इसलिए हमे फॉलो करें |


पोस्ट ईमेल पर पाने के लिए sub. करें |
Subscribe our Email Newsletter
अपना टॉपिक सेलेक्ट करें





रविवार, 15 सितंबर 2019

सितंबर 15, 2019

Pubg Game खेलने के 5 फायदे और 7 नुकसान (पब्जी मोबाइल गेम) | pubg ke fayde aur nuksan in hindi

क्या हैं pubg mobile game के फायदे और नुकसान, लोग क्यों फस जाते हैं इस


के addiction में?
दोस्तों कहते हैं कि इस दुनियां में हर एक चीज़ के दो पहलू होते है एक अच्छा एक बुरा, अब ये पूरी तरह से हम पर निर्भर करता है कि हम किस पहलू का कितना उपयोग करते है। कहने का मतलब यदि किसी बुरी चीज को भी सीमित मात्रा में उपयोग किया जाए तो उसका अच्छा पहलू हमारे लिए फायदेमंद हो सकता है, लेकिन यहां पर मैंने एक बात कही उसका ध्यान रखिएगा “सीमित मात्रा”
-------------------+---+++++++++++
आइए
चलिए अब बात करते हैं आज के समय मे बहुत ज्यादा viral हो रहे video game pupg के बारे में।
● आखिर ये PUBG Mobile है क्या?
पब्जी मोबाइल एक तरह का वर्चुअल वीडियो गेम है जिसे मोबाइल और कंप्यूटर पर खेला जाता है। इसका पूरा नाम player unknown battle grounds  है। इस गेम को चलाने वाली कंपनी का नाम tancet company है। और pubg mobile को बनाने वाले का नाम है Branden Greene जो कि आयरलैंड के रहने वाले हैं। 
इस गेम को सबसे पहले कंप्यूटर के लिए बनाया गया इसके बाद सन 2018 में इसे एंड्राइड ऑपरेटिंग सिस्टम के लिए गूगल प्ले स्टोर में डाल दिया गया जहाँ इस गेम को 10 मिलियन से भी ज्यादा बार डाउनलोड किया जा चुका है इस गेम को बनाने के लिए बहुत ही आधुनिक और नई टेक्नोलॉजी, ग्राफिक्स का प्रयोग किया गया है इस गेम ने गेमिंग के क्षेत्र में बहुत से रिकॉर्डओं को तोड़ा है।
+++++++++++++++++++++
● Pubg Mobile Game addictive क्यों है?
दोस्तों पब्जी मोबाइल गेम को इस तरह डिजाइन किया गया है कि इसे खेलने वाला व्यक्ति धीरे-धीरे इसके एडिक्शन में फसते जाता है इसके अंदर बनाए गए नियम, इसके अंदर तैयार किए गए ग्राफिक्स, ग्राफिक्स के अंदर बनाए गए कलर, लोगों को एक मैप के अंदर खेलने की दी गई आजादी लोगों को इस खेल की ओर आकर्षित करती है। इस खेल में 100 खिलाड़ियों को एक सीमित क्षेत्र(मैप) के अंदर छोड़ दिया जाता है और इनमें से जो एक खिलाड़ी या एक ग्रुप आखिरी में बचता है वही विजेता कहलाता है। 
+++++±++++++++
pubg addiction का असली कारण: दोस्तों प्रत्येक व्यक्ति के अंदर बचपन से ही एक सोल्जर(योध्या), हीरो बनने की इच्छा होती है और इस तरह के बैटलग्राउंड वाले वीडियो गेम्स लोगों की इस तरह की इच्छा (फंतासी) को पूरा करते हैं जिसे वो अपनी जिंदगी में पूरा नहीं कर पाते इसलिए लोग इस तरह के गेम्स को खेलना पसंद करते हैं और उन्हें इसकी लत लग जाती है।
● Pubg Mobile Game खेलने के 5 फायदे-
दोस्तों यदि आप pubg मोबाइल गेम को “हफ्ते में 7 से 9 घंटे” खेलते हैं तो आपको इस गेम से बहुत से फायदे हो सकते हैं ऐसे ही कुछ फायदों के बारे में हम नीचे बात करने वाले हैं।
-------------------------------------
01. मनोरंजन- इस गेम का सबसे बड़ा फायदा है कि जब कभी आप बोर हो रहे हों, आपके पास करने को कुछ काम ना हो और आप टाइम पास करना चाह रहे हो तब आप अपने समय को गुजारने के लिए कुछ समय के लिए पब्जी गेम का लाभ उठा सकते हैं इससे आप का समय तो कट ही जाएगा और आपको अच्छा खासा मनोरंजन भी मिल जाएगा।
02. थोड़े समय के लिए तनाव से मुक्ति- जब आप इस गेम को खेलते हैं तो पूरी तरह से इस गेम में घुस जाते हैं जिससे आपको अपने जीवन की समस्याएं और तनाव को भूलने में काफी मदद मिलती है लेकिन याद रखिएगा कि इस तरह की मदद थोड़े समय के लिए ही होती है।
03. नए दोस्तों से मिलना- ऐसे ऑनलाइन गेम जिसे खेलने के लिए 3 से 4 प्लेयर की जरूरत पड़ती है ऐसे गेम्स में हमें हमेशा नए दोस्त मिलते हैं कभी कभी देखा गया है कि ऑनलाइन मिलने वाले दोस्त जिंदगी भर भी दोस्त बने रहते हैं। कहने का मतलब इस तरह के गेम आपको नए दोस्तों से मिलने का अवसर देते हैं।
04. एकता की भावना- स्वाभाविक है जब गेम को कुछ लोग मिलकर खेलेंगे तो उनके अंदर एकता की भावना पैदा होगी, एक दूसरे का साथ देना, एक दूसरे को बचाना और मिलकर एक मिशन को अंजाम देना, हमारे अंदर एकता की भावना को पैदा करता है, अगर आप गेम खेलते हैं तो आपको मेरी बातें समझ में आ गई होंगी।
05. तेज नज़र- ऐसा देखा गया है कि जो लोग दिन में एक से डेढ़ घंटे ऑनलाइन गेम्स खेलते हैं उनकी नजरें बाकी लोगों की अपेक्षा तेज हो जाती है ऐसे लोग नज़र के सामने अचानक से आए बदलाव को तुरंत पहचान लेते हैं गेम खेलने वाले लोग छोटी मोटी पहेलियों को भी जल्दी ही समझ लेते हैं।
______
________. Danger fact
नुकसान-7
____________________________________________________________
दोस्तों यदि आप गेम खेलने में अपना सारा दिन बिता देते हैं, आपको गेम के अलावा कुछ दिखाई नहीं देता, आप हर समय गेम की बातें करते हैं और हर समय सोचते रहते हैं कि कब आप को गेम खेलने का मौका मिले तो समझ जाइए कि आपको इस तरह के गेम्स की लत लग चुकी है और इस लत के क्या नुकसान हो सकते हैं इसका अध्ययन हम आगे करेंगे।
01. आंखों पर बुरा असर- यदि आप दिन-रात गेम खेलते हैं तो ऐसा करने से आपकी आंखों पर बुरा असर पड़ेगा क्योंकि मोबाइल से निकलने वाली लाइट हमारी आँखों की रेटिना को काफी हद तक प्रभावित करती है जिससे हमारी आंखों में धुंधलापन, ठीक से दिखाई न देना, सिरदर्द जैसी समस्याएं आ सकती हैं।
02. समय की बर्बादी- इस तरह की गेम खेलने से जिस चीज की सबसे ज्यादा बर्बादी होती है वह है समय, जी हां दोस्तों ऐसा देखा गया है कि ऐसे गेम को खेलने वाले लोग लगातार तीन से चार 4 घंटे तक गेम को खेलते रहते हैं हर समय गेम और गेम से जुड़ी घटनाओं की बातें करते रहते हैं। जिससे उनका बहुत ज्यादा समय बर्बाद होता है।
03 ... नींद ना आना- अपनी आंखों का इतना ज्यादा इस्तेमाल करने के कारण नींद ना आने की समस्या स्वाभाविक है यदि हम अपनी आंखों को आराम नहीं देंगे तो रात के समय हमें सोने में काफी दिक्कत का सामना करना पड़ सकता है।
04.... डिप्रेशन और तनाव- ज्यादा वीडियो गेम्स खेलने वाले लोग डिप्रेशन और तनाव में रहती हैं क्योंकि भी वर्चुअल दुनिया से कनेक्ट हो जाती हैं और असली दुनिया को समझ नहीं पाते उन्हें नकली दुनिया में ही अपनी असली दुनिया दिखाई देने लगती है गेम के अंदर के लोग ही उन्हें अपने लगने लगते हैं ऐसे में बाहर की दुनिया और बाहर के लोग उनके लिए डिप्रेशन और तनाव पैदा करते हैं।

05. ...पाचन तंत्र में गड़बड़ी और मोटापा- एक जगह बैठकर दिनभर गेम खेलने से पाचन तंत्र में गड़बड़ी, कब्ज और मोटापे की समस्या होना आम बात है।
06. .. हिंसक स्वभाव- इस तरह के battle Ground से जुड़े गेम्स में मारधाड़ और खून खराबा भरपूर मात्रा में दिखाया जाता है, एक दूसरे को मार कर आगे बढ़ने की आदत हमें हिंसक बनाती है, इसीलिए इस तरह के गेम को ज्यादा खेलने वाले लोग हिंसक हो जाते हैं असली दुनिया में भी हमेशा मारधाड़, गाली और लड़ाई की बातें करते हैं।
07.... पैसों की बर्बादी- और दोस्तों सबसे जरूरी बात इस तरह के गेम की कीमत बहुत ज्यादा होती है इन्हें खेलने में मोबाइल का डाटा भी काफी ज्यादा मात्रा में खर्च होता है ऐसी गेम को हमेशा बड़े एम्युलेटर, ज्यादा ग्राफिक्स वाले कंप्यूटर या महंगे मोबाइलों पर ही अच्छी तरह खेला जा सकता है यदि हमें इन सब चीजों को लेना पड़े तो हमें काफी मात्रा में पैसे खर्च करने होंगे जो कि एक तरह से पैसों की बर्बादी ही है।
            Danger fact

free me blog kaise banaye step by step 2020

How to Create Free Website / Blog on Blogger : क्या आप भी Blogging के क्षेत्र से जुड़ना चाहते हैं और Blogging से पैसे कमाना चाहते हैं ? क्या ...