Rajan Kumar

Make Money Online, Blogging, Facebook, online, Instagram, Tik Tok, Best App, Latest News. All More Information

Breaking

Translate

शुक्रवार, 18 अक्तूबर 2019

What is 5G in hindi? [Start 5G generation]5G क्या है? India  में 5G कब आएगा?5G की शुरुआत कब होगी?यह कैसे काम करती है! जानिए हिन्दी में by shaktiteks

क्या आप जानते हैं 5G क्या है और यह कैसे काम करती है, 5G की हाई SPEED  INTERNET  सेवा कब तक आएगी और india  में इसकी शुरुआत कब होगी?5G technology आने पर क्या हमें फिर से नया phone  खरीदना होगा जैसे 3G 4G के आने पर खरीदना पड़ा था? 5G की internet  speed  कितनी होगी और यह 4G से कितना बेहतर होगा। इस post में आपको 5G के बारे में पूरी information हिंदी में मिलेगी। यहां पर हम आपको 5G के हर एक पहलू के बारे में बताएंगे What is 5G and when will it start in India?

     
हमारी दुनिया में 5G दस्तक देने वाला है और अगले साल की शुरुआत तक कई देशों में 5G हाई speed internet  service की शुरुआत हो जाएगी। इन देशों का दावा है कि इस सेवा के आने के बाद internet  की स्पीड 10 से 20 गुना तक बढ़ जाएगी।
हर कोई इसके बारे में जानने को उत्सुक है और उनके मन में 5G को लेकर बहुत सारे questions है जैसे कि 5G के आने के बाद हमारे जीवन में क्या change होगा और यह 4G technology से कितना बेहतर होगा। इन सभी सवालों के जवाब जानने से पहले 5G से जुड़े कुछ बुनियादी questions का information जानना बहुत जरूरी है ताकि आपको सबकुछ सही से समझ आ सके। सबसे पहला सवाल है आखिर क्या है 5G तो सबसे पहले हम इसी के बारे में जान लेते हैं।
India  में 5G कब आएगा?
5G क्या है? What is 5G in Hindi
5G की फुल फॉर्म है Fifth Generation यानी पांचवी पीढ़ी। ये सेल्यूलर mobail  संचार (cellular mobile communications) की नवीनतम पीढ़ी (latest generation) है। यह wireless network  तकनीक की पांचवी पीढ़ी (5th Generation) है और यह 4G, 3G और 2जी technology से काफी ज्यादा बेहतर है।
5G प्रदर्शन उच्च डेटा दर, कम विलंबता , save energy  लागत में कमी, उच्च प्रणाली क्षमता और बड़े पैमाने पर device connectivity को लक्षित करता है और इसकी speed  बहुत ही fast  होगी।
इसकी internet  speed 20 Gbps से भी ज्यादा होगी जिससे बड़े डाटा को आसानी से download  और upload  किया जा सकेगा। इससे HD Movie को 1 मिनट में download  किया जा सकेगा।
इस सेवा में आपको supar fast  हाई speed  internet connectivity मिलेगी और साथ ही आप एक साथ कई device को बिना internet  speed कम हुए ही conect  कर सकोगे, जिससे internet  पर हैवी traffic  से छुटकारा मिल जाएगा।
यह एक ultra  स्पीड network  होगा जिसमें 20 GB  प्रति सेकंड की SPEED  मिलेगी। आपके MOBAIL  पर touch करते ही 1 सेकंड के हजार विभाग में यानी 1 मिली सेकंड से भी कम time में webpage open हो जाएगा।

इस service  को व्यवसायिक तौर पर शुरू करने और यूजर्स को इसे स्वीकारने के लिए इंफ्रास्ट्रक्चर को बेहतर बनाना दूरसंचार company के लिए चुनौती होगा और smartphone  एवं device निर्माता company को भी 5G wireless को अपनाने के लिए अपनी technology को upgrade करना होगा
5G काम कैसे करता है?
इसमें कई नई तकनीक इस्तेमाल की जाएंगी और यह हाई फ्रिकवेंसी बैंड 3.5GHz से 26GHz या उससे भी ज्यादा पर काम करेगा।  जहां 4G में signals को radiate करने के लिए बड़े high-power cell towers की जरूरत होती है वहीं 5G wireless signals को transmit करने के लिए बहुत सारे small cell stations का इस्तेमाल करेगा। जिन्हें छोटी-छोटी जगह जैसे light poles या बिल्डिंग पर लगाया जा सकता है।
यहां पर multiple small cell से उसका इस्तेमाल किया जाएगा, क्योंकि यह millimeter wave spectrum हमेशा 30GHz से 300GHz के भीतर ही होती है और 5G में हाई स्पीड पैदा करने की ही जरूरत है जो कि केवल short distances से ही travel कर सकते है।
पहले janration  में wireless technology के लिए spectrum की lower-frequency bands का इस्तेमाल होता था जिससे कि distance और interference ज्यादा होती है। इससे जूझने के लिए wireless industry ने 5G नेटवर्क में lower-frequency spectrum इस्तेमाल करने के बारे में सोचा है।
जिससे network  opreter  system का use कर सके जो कि उनके पास पहले से ही मौजूद है। इसकी internet  speed  पहले के जनरेसन से 10 से 20 गुना ज्यादा होगी जो अपने आपमें बहुत ही fast होगी।
4G से 5G कितना different होगा?
5G पूरी तरह से 4G technology से अलग होगी। video  technique पर काम करेगा। शुरुआत में अपने original  speed  में काम करेगा या नहीं यह भी तय नहीं है क्योंकि यह सब कुछ telicome company का निवेश और इन्फ्रास्ट्रक्चर पर निर्भर करता है।
फिलहाल 4G पर सर्वाधिक 45 MB/S मुमकिन है लेकिन एक CHIP  बनाने वाली company का अनुमान है कि 5G technology  इससे 10 से 20 गुना तक अधिक speed हासिल कर सकती है।
अगर ऐसा होता है तो आप एक high defination  (full HD) film को एक minute से भी कम time में पूरा download  करने की कल्पना कर सकते हैं।
गर्मी की बात करें तो फौजी से 1 मई को dawnlaod  होने में 5 से 10 minutes तक का time लग जाता है, 5G के आने के बाद आपके click  करते ही movie dawnlaod  हो जाएगी।
5G की शुरुआत कब होगी?
अमेरिकी देशों में यह service इस साल के अंत शुरू हो सकती है। दक्षिण कोरिया के लिए साल तक इसकी शुरुआत कर सकता है अधिकतर देशों में 5G  साल 2020 तक lonch हो जाएगा और आने वाले कुछ सालों में यह service दुनिया भर के कई देशों में शुरू हो चुकी होगी।
America  दूरसंचार company AT&T ने पहले से ही 5G के नाम से सेवा की testing  शुरू कर दी है वही एक और दूरसंचार अमेरिकी कंपनी Sprint भी इस सेवा को शुरू करने की तैयारी में है।
दक्षिण कोरिया और जापान में 4G network इसलिए वहां 5G का आना आसान होगा। चीन तो इसका ट्रायल भी शुरू कर चुका है। आने वाले समय में जल्दी आपको 5G service शुरू होने की खुशखबरी मिल सकती है।

India  में 5G कब आएगा?
आप thinking होंगे कि 5G india में कब आएगा? तो चलिए मैं आपको इसके बारे में बता देता हूं। gornment ने 5G स्पेक्ट्रम के लिए oction  की तैयारी शुरू कर दी है government ने TRAI  से कहा है कि 3400 से 3600 MHz bands की नीलामी के लिए शुरुआती दाम सुझाए।
TRAI  ने इस पर work करना शुरू कर दिया है और डिपार्टमेंट ऑफ telecom जल्द ही इस संबंध में एक पॉलिसी भी ला सकता है।
अगर indian दूरसंचार company की बात करें तो Reliance Jio और Airtel भी इस सेवा के लिए इंफ्रास्ट्रक्चर deployment की तैयारी में है। एक बार network  set होने के बाद users  को 5G compatible devices की जरूरत होगी उसके बाद इस 5G wireless सेवा का लाभ उठाया जा सकेगा।
भारत में इस साल की आखिरी छह माही में या फिर 2020 की शुरुआत तक 5G serviceको lanch किया जा सकता है। तब तक smartphone निर्माता company भी अपने 5G support smartphone को बाजार में पेश कर सकती हैं।
आपको मैं बता दूं कि Indian telicome  बाजार बहुत प्रतिस्पर्धी हो गया है company मुनाफा नहीं कमा पा रही है ऐसे में नई technology में निवेश करना comyany के लिए warning हो सकता है और वह भारी निवेश करने से बच सकती हैं।
भारतीय telicome  company जानती है कि बाजार में इस समय ग्राहकों को 4G डाटा बहुत सस्ते दामों पर मिल रहा है ऐसे में वो 5G पर अधिक search क्यों करेंगे?
अगर ऐसा होता है तो भारत में 5G service आने में और भी ज्यादा time  लग सकता है और हो सकता है india  में 5G सर्विस 2022 या 2023 तक आ पायें।
5G आने पर क्या phone  बदलना होगा?
शायद, क्योंकि जब 4G आया था तो phone बदलने पड़े थे इसलिए हो सकता है कि 5G आने पर हमें 5G support smartphone  लेना पड़े।
Smartphone  कंपनियों ने इसके बारे में अभी कुछ भी नहीं बताया है लेकिन इतना तो हम कह सकते हैं कि 5G service का लाभ उठाने के लिए हमें 5G support mobail  की जरूरत होगी।
हालांकि कुछ expt. का कहना है कि हम 4G सपोर्ट device  में ही 5G network  का use कर सकेंगे। लेकिन इस बात की कोई पुष्टि नहीं हुई है।
अब देखना यह है कि mobail  कंपनियां क्या करती हैं। 4G device में ही 5G काम कर पाएगा या फिर इसके लिए new  smartphone lunch  किए जाएंगे यह तो आने वाला वक्त ही बताएगा।
5G के फायदे - Advantages क्या है?
5G network  का सबसे बड़ा फायदा यह है कि आपको हाई speed  internet  connection मिलेगा network  problem  की वजह से देरी से होने वाले काम जल्द होने में आसानी होगी।
5G वाले सेवा से सबसे बड़ा फायदा यह होगा कि लोगों को हाई speed  internet connectivity का लाभ मिलेगा।
5G से 3 घंटे की फिल्म 1 से 5 सेकंड में ही download  हो जाएगी।
शहरों को network  connectivity के माध्यम से smart  बनाया जा सकेगा।
Online video स्ट्रीम प्लेटफॉर्म्स (YouTube, Hotstar, Netflix इत्यादि) पर user  बिना बफरिंग के video देख सकेंगे।
Online  कंटेंट या वीडियो download  upload  करने में कम समय लगेगा।
इसके माध्यम से सभी networks  को एक ही plateform  पर लाया जा सकता है।
इसे previous generation के साथ आसानी से मैनेज किया जा सकता है।
इस technology से पूरी दुनिया में uniform, uninterrupted और consistent तरीके से कनेक्टिविटी प्रदान किया जा सकता है।
Space, galaxy और दूसरे ग्रह को देखने बहुत ही आसान हो जाएगा।
Earthquek जैसी प्राकृतिक आपदाओं के बारे में पहले से ही पता लगाया जा सकेगा।
इससे education  बहुत ही आसान हो जाएगा क्योंकि कोई भी student  बिना किसी परेशानी के दुनिया के किसी भी छोर से ज्ञान प्राप्त कर सकेगा।
आप के link  पर click  करने के बाद पलक झपकते ही website open हो जाएगी।
सबसे बड़ा फायदा यह है कि high speed  की जरूरत वाले work आसान हो जाएंगे।
5G के नुकसान - Disadvantages क्या है?
यह तो हम सबको पता है कि अगर किसी चीज से फायदा होता है तो उसके नुकसान भी होते हैं। आइए जानते हैं 5G  से होने वाले नुकसान के बारे में,
5G में जो speed  प्रदान करने की बात की जा रही है उसे अचीव करना impossible प्रतीत होता है
इससे infrastructures को download  करने में बहुत ज्यादा पैसा लगेगा।
इसमें के security और प्राइवेसी से releded issue है जिन्हें अभी तक solve नहीं किया गया है।
बहुत सारे पुराने devise इस नई technology के साथ कंफर्टेबल नहीं है जसके चलते उन्हें बदलना पड़ेगा जिस से बहुत नुकसान होगा।
अगर आपका mobail  5G support नहीं करता है तो आपको नया mobail  खरीदना होगा।
5G की technology  अभी भी inder  prosses है और इसके पीछे research जारी है पता नहीं इस को आने में कितना time  लगेगा।
आज के time में ऐसे बहुत से देश है जहां की अभी तक 2G और 3G technology का use होता है और लोगों को अभी वहां 4G के बारे में भी नहीं पता है।
डेवलपमेंट का कोई भी क्षेत्र हो उसके सामने बहुत सारे चैलेंज होते हैं। 5G technology के सामने भी बहुत सारे technology challenges और common challenges है।
5G के बारे में जानने के बाद हम आसानी से समझ सकते हैं कि यकीनन यह 4G technology से काफी ज्यादा बेहतर होगा और हम कल्पना कर सकते हैं कि 5G के आने के बाद दुनिया कैसी होगी और कितना कुछ बदल जाएगा।

इस post  में हमने 5G क्या है, 5G काम कैसे करता है, 5G की शुरुआत कब होगी, भारत में 5G कब lounch  होगा और 5G के फायदे और नुकसान के बारे में जाना। मैं आशा करता हूं कि आप लोगों को ये 5G की information पसंद आई होगी

4 टिप्‍पणियां: